जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

भू-माफिया के खिलाफ लेकर थाने मे शिकायत लेकर पहुंची 75वर्षीय वृद्धा को हरदुआगंज पुलिस ने टरकाया

0


अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, हरदुआगंज| अपनी पैतृक ज़मीन को भू माफिया से बचाने के लिए 75साल की बुढ़िया लगातार पुलिस और अधिकारिओं के चक्कर काट रही है लेकिन न तो राजस्व विभाग के अधिकारी कोई मदद कर रही है और न ही पुलिस| कड़ाके की ठण्ड मे बुढ़िया शुक्रवार को हरदुआगंज थाने गई लेकिन पुलिस ने पीड़िता की तहरीर लेने से इनकार कर दिया| 

   पुलिस को दीं तहरीर मे पीड़िता ने मुन्नी देवी पुत्री स्व० श्री गोपाल सिंह उम्र 75 वर्ष गांव बरौठा की निवासी हैं। प्रार्थिनी छह बहनें हैं। गांव बरौठा में हमरा मायका है। हमारे भाई ना होने से पिता स्व० श्री गोपाल सिंह पुत्र श्री रामचंद्र सिंह की करीब 36 बीघा जमीन की हम बहनें मालिक काबिज हैं। छहों बहनें वृद्ध हैं एवं गृहस्थी जीवन में व्यस्त रहने के चलते करीब एक दशक पहले बहन भीष्मा देवी व मंगलवती देवी ने अपने हिस्से की जमीन को प्रदीप कुमार पुत्र जितेंद्र कुमार निवासी 13-ज्ञानसरोवर कालौनी थाना क्वार्सी अलीगढ़ को बिकी कर दी थी। खरीदी गई उक्त जमीन पर प्रदीप तभी से काबिज है। वहीं खेत के पास ही हमारे पैतृक मकान व बोरिंग लगा हिस्सा अलग पड़ा था।

बीते दिनों प्रदीप ने हमारे पैतृक घर की जगह व बोरिंग एवं कुंआ पर जबरन कब्जा कर सरकारी चकरोड खेत को अपने खेत में मिलाकर रास्ता बंद कर दिया दो बहनों की जमीन को खरीद लेने के बाद रास्ता बंद करके प्रदीप की मंशा हम अन्य बहनों की जमीन को भी सस्ते दामों में हड़पने की है। दिनांक 20. 12.2023 को हम बहनें अपने खेत पर गए थे, जहां पर पूर्व में घर बने आबादी की जमीन पर कब्जा देख हमने प्रदीप को टोका तो प्रदीप व कई अज्ञात लोगों के साथ गाली गलौज व जान से मारने की धमकी देने लगा। वह कहता है कि में यहां बन्दूक भी रखता हूं, यहां आए तो जान से मारकर सारी जमीन पर कब्जा कर लूंगा। इस की शिकायत थाना पुलिस व समाधान विस में करने पर मौके पर पहुंचे हल्का लेखपाल भूमाफिया प्रदीप का पक्ष लेते हुए बिना नाप हमारी पैतृक जगह को चिन्हांकित किए वापस लौट गया। लेखपाल ने प्रदीप से सांठगांठ कर ही नायाब तहसीलदार महोदया को भी भ्रमित कर दिया।फिलहाल पीड़िता ने जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत को पंजीकृत कराया है|

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)