जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

लोधी जाति के गाँव मे विकास नहीं करा रहे ठाकुरजाति के प्रधान, आक्रोशित सेकड़ो ग्रामीण शिकायत लेकर पहुंचे समाधान दिवस

0

धनीपुर ब्लॉक के उखलाना ग्राम पंचायत का मामला, ग्रामीणों ने की पोखर पर अवैध कब्ज़ा हटाने की मांग 

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम,हरदुआगजं| अलीगढ़ के ब्लाक धनीपुर ग्राम पंचायत उखलाना ग्राम सफेदपुरा के दर्जनों ग्रामीण पोखर के सौन्दर्यीकरण एं कब्जामुक्त कराने के लिये थाने मे आयोजित समाधान दिवस में पहुँचे , ग्रामीणों ने अपनी गम्भीर समस्या को बताकर अधिकारियों से समस्या का समाधान करने की मांग की। जानकारी के मुताबिक पंचायत उखलाना करीब पॉच गॉव सफेदपुरा ,नगला खेम ,भूतपुरा खुशालगढ़ी, उखलाना की ब्लाक में सबसे बड़ी दूसरी पंचायत है जिसमें ग्राम सफेदपुरा निवासी नत्थू सिहं व लाखन सिहं ने बताया कि जब से ग्राम पंचायत उखलाना की प्रधान ललितेश पत्नि धर्मेन्द्र चौहान हुईं है पंचायत के मजरा ग्राम सफेदपुरा में कोई भी विकास कार्य नही हुआ है|

ग्राम पंचायत मे कोई विकास कार्य नहीं होने नाराज सेकड़ो ग्रामीण शनिवार को समाधान दिवस मे शिकायत लेकर हरदुआगंज पुलिस थाने पहुँचे| ग्राम प्रधान के खिलाफ आक्रोशित स्थानीय निवासी रामसिहं ने बताया कि सफेदपुरा मे दो बड़ी पोखर खसरा गाटा सं० 1417 व 1460 है| जिसका सौन्दर्यीकरण आज तक नही हुआ है| जिसके कारण गाँव की नालियों का पानी सड़को पर भर जाता है|जलभराब होने और पोखर मे पानी की निकासी नहीं होने से गाँव मे अक्सर आपसी विवाद होते रहते है| ठाकुर जी सेवा ट्रस्ट के पदाधिकारी ने बताया कि करीब दो वर्षो से लगातार दर्जनों शिकायत जनसुनवाई पर दर्ज कराई है, लेकिन आज तक कोई समस्या का समाधान नही हुआ|

इस मौक़े पर कृपालसिंह, रविन्द्र, जीतेन्द्र, रामसिंह, वार्ड सदस्य गिर्राज किशोर, राजकुमार शर्मा, विजेंद्र, मेघसिंह, घमंडी आदि मौजूद रहे|

पंचायत के वार्ड12 से ग्राम पंचायत सदस्य चंचल वर्मा ने पूरे प्रकरण को उपजिलाधिकारी के समक्ष रखते हुए ग्राम प्रधान की मनमानी और उपेक्षा के चलते लोधी बाहुल्य इस गाँव मे कोई विकास कार्य नहीं कराया जा रहा है, ग्राम प्रधान ठाकुर (श्रवण) जाति के है और पिछड़ी जाति के लोगों के इस गाँव मे कोई भी काम अभी तक नहीं कराया गया है|जबकि कागजो मे फर्जी प्रस्ताव पारित कराकर लाखों रुपये सरकारी खजाने से ठिकाने लगा दिए गए है| उन्होंने पंचायत मे हुए मनरेगा के मद मे करोड़ों रुपये का घोटाले का जल्द खुलासा करने की बात कही है| कागजो मे कई बार मनरेगा के फंड से गाँव की इन पोखरो की सफाई का काम कागजो मे हो चुके है |  जो समस्या का विषय गम्भीर है । ग्राम प्रधान केवल अपने ही गॉव में कार्य करा रहे है , जिससे ग्रामीणों में रोष है|

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)