जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

चिकित्सालय में खराब पड़ी लिफ्ट के बारे में प्रोजेक्ट मैनेजर यूपीआरएनएन से हैंडओवर पत्रावली तलब की

0

 


 डीएम ने अतरौली का किया निरीक्षण

डीएम ने 100 शैय्या हॉस्पिटल एवं तहसील कार्यालय को देखा

चिकित्सालय में सफाई व्यवस्थाओं पर असन्तोष प्रकट करते हुए व्यवस्थाओं में सुधार लाने के निर्देश दिए


अलीगढ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ़ |जिला अधिकारी विशाख जी0 ने शनिवार को अतरौली तहसील एवं 100 शैय्या हॉस्पिटल का निरीक्षण किया।  जिलाधिकारी ने 100 शैय्या हॉस्पिटल का निरीक्षण करते हुए साफ सफाई व्यवस्थाओं पर असन्तोष प्रकट किया। सीएमओ डॉ. नीरज त्यागी और सीएमएस डॉ. दुर्गेश कुमार को चेतावनी देते हुए व्यवस्थाओं में सुधार लाने के निर्देश दिए। महिला एवं पुरुष वार्ड में चादरें गंदी पाए जाने पर नाराजगी प्रकट करते हुए सबंधित लॉन्ड्री संचालक को नोटिस देते हुए कार्य सुधार के निर्देश दिए। ये भी निर्देश दिए कि जबतक सुधार एवं गुणवत्तापूर्ण कार्य न सुनिश्चित हो, तब तक भुगतान अवरूध्द किया जाए। उन्होंने कहा कि यदि सुधार नही होता है तो ब्लैक लिस्टेड की कार्यवाही की जाए। डीएम ने निर्देश दिए कि मरीजों को किसी प्रकार की असुविधा न होने दी जाए। बाहर की दवाएं न लिखी जाएं। चिकित्सालय आए प्रत्येक मरीज को इलाज उपलब्ध हो, सुनिश्चित किया जाए। इस दौरान आपातकालीन चिकित्सा के लिए आए ग्राम बढ़ौली निवासी पंकज का हाल चाल जाना। 

   डीएम ने चिकित्सालय में लिफ्ट क्रियाशील न होने के बारे में जानकारी की। सीएमएस ने बताया कि चिकित्सालय भवन 2017 में हैंडओवर हुआ था। कार्यदाई संस्था यूपीआरएनएन द्वारा भवन निर्माण कराया गया है। डीएम ने प्रोजेक्ट मैनेजर यूपीआरएनएन को निर्देशित किया कि हैंडओवर पत्रावली प्रस्तुत करें। 

      तहसील पहुंचकर तहसील कार्यालय का निरीक्षण किया। एसडीएम अनिल कटियार एवं पुलिस क्षेत्राधिकारी मो0 अकमल खान से तहसील क्षेत्र की विस्तृत जानकारी प्राप्त की। एसडीएम ने बताया कि तहसील क्षेत्र में तीन ब्लॉक और 313 ग्राम हैं। इस दौरान डीएम विशाख जी0 ने अपनी समस्या और शिकायत लेकर तहसील पहुंचे लोगों को भी सुना एवं एसडीएम अतरौली को निष्पक्ष जांच कर समस्याओं का निराकरण करने के निर्देश दिए। तहसील के नवीन मीटिंग हाल के लिए प्रस्ताव यथाशीघ्र शासन भेजने के निर्देश दिए गए। कस्बा एवं देहात क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति के बारे में भी जानकारी करते हुए समयबद्धता के साथ गुणवत्तापूर्ण जन शिकायत निस्तारण के निर्देश दिए। इस दौरान नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ अनामिका दोहरे, तहसीलदार गोपाल कृष्ण मिश्रा, नायब तहसीलदार सुरेंद्र कुमार गौतम उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)