जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में गोंडा, बिजौली, गंगीरी के BCPM का वेतन रोकने के निर्देश

0

 


जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक संपन्न

भी चिकित्सक तैनाती स्थल पर ही रात्रि निवास सुनिश्चित करें


अलीगढ मीडिया डॉट, अलीगढ़ 27 फरवरी 2024 (सू0वि0)| जिलाधिकारी विशाख जी0 की अध्यक्षता में कलैक्ट्रेट सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक आहुत की गयी। बैठक में ओपीडीआईपीडीपैथालॉजी जाँचएक्स-रेअल्ट्रासाउंडसंस्थागत प्रसवराष्ट्रीय क्षय उन्मूलनअंधता निवारणआयुष्मान योजनाआशा भुगतान समेत अन्य महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर विस्तार से समीक्षा की गयी। डीएम ने सभी एमओआईसी को तैनाती स्थल पर ही रात्रि निवास सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुए कहा कि सीएचसीपीएचसीस्वास्थ्य उपकेंद्रों में तैनात पैरामेडिकल स्टाफ समय से कार्यस्थल पर पहुँचें। ओपीडी कक्ष में चिकित्सक के अलावा अन्य बाह्य व्यक्ति चिकित्सक के साथ न बैठें। मरीजों को बाहर की दवाइयां न लिखी जाएं। सरकार द्वारा संचालित निःशुल्क सेवाएं बिना किसी परेशानी के लाभार्थियों को प्राप्त होनी चाहिए। सभी प्रकार के प्रमाणपत्र समय से जारी किए जाएं। चिकित्सालय परिसर में समुचित साफ-सफाई के साथ बैड्स पर बिछी चादरें साफ होनी चाहिए।


संस्थागत प्रसव समीक्षा में शहरी क्षेत्र में 11621 एवं ग्रामीण क्षेत्रों में 34117 प्रसव होना पाया गया। सबसे खराब स्थिति अतरौलीअकराबाद एवं इगलास में रही। डीएम ने प्रसव केंद्रों पर समुचित सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। जननी सुरक्षा योजना में लाभार्थियों को लाभ दिलाने के लिए भर्ती के साथ ही कागज़ी औपचारिकताएं पूर्ण कराने एवं सभी लाभार्थियों को समय से लाभ दिलाने के निर्देश दिए। डीडीयू में 5 गायनोकोलोजिस्ट तैनात होने के बावजूद अप्रैल से अब तक मात्र 412 सी सैक्शन होने पर चिंता व्यक्त करते हुए सी सैक्शन एवं संस्थागत प्रसव की संख्या बढ़ाने एवं अन्यथा की दशा में उन्हें डीडीयू से हटाकर कार्य के अनुरूप सीएचसी पर भेजने के निर्देश दिए।

          राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन में अब तक 13199 रोगियों को पोषण किट प्रदान की गए। आयुष्मान योजना में शहर में अब तक 992428 गोल्डन कार्ड बनाए गए हैं। ग्रामीण क्षेत्र में 250000 से अधिक कार्ड बन चुके हैंदोनों जगह कार्य प्रगति पर है। आशाओं के सभी प्रकार के भुगतान समय से करने के निर्देश दिए गए। शिथिल प्रगति पर गोंडाबिजौलीगंगीरी के बीसीपीएम का वेतन रोकने के निर्देश दिए गए। ग्राम स्वास्थ्यस्वच्छता एवं पोषण समिति में प्राप्त धनराशि का व्यय नहीं करने पर अकराबादअतरौलीबिजौली एवं अन्य 4 बीसीपीएम से स्पष्टीकरण लेने के निर्देश दिए गए। ई-संजीवनी एप में सीएचओ खैर की प्रगति असंतोषजनक पाई गई। हैल्थ एंड वैलनेस सेंटर्स एवं स्वास्थ्य केंद्रों पर जल जीवन मिशन के तहत जलापूर्ति सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए गये। एनआरसी को पूरी क्षमता के साथ संचालित करने के साथ ही डिविजनल डेंटल लैब स्थापित करने के लिए अनुरक्षण कार्य कराने का प्रस्ताव प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)