जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

मंगलायतन विश्वविद्यालय में मनाया राष्ट्रीय विज्ञान दिवस, विद्यार्थियों ने अथर्वा को किया है सार्थक: कुलपति

0

 


-मंगलायतन विश्वविद्यालय में खेल व सांस्कृतिक उत्सव के विजेता किए गए सम्मानित

अलीगढ मीडिया डॉट कॉम अलीगढ़। अथर्वा जैसा अर्थ हमारे वेद, ज्ञान व परिश्रम से है, हमारे विद्यार्थियों ने अथर्वा को सार्थक किया है। विद्यार्थी जीवन में हम पुस्तकीय ज्ञान के आधार पर उपधिया तो प्राप्त करते हैं। लेकिन विश्वविद्यालय हमारे व्यक्तित्व को समग्रता में सजाने, संवारने व निखारने का काम करता है। विद्यार्थियों को अपने अंदर की हिचकिचाहट को तोड़कर अपनी प्रतिभा को संवारने की आवश्यकता है। उक्त बातें कुलपति प्रो. पीके दशोरा ने पांच दिवसीय अथर्वा उत्सव के पुरस्कार वितरण समारोह को संबोधित करते हुए कहीं। प्रति कुलपति प्रो. सिद्दी विरेशम ने विजेताओं को बधाई देते हुए कहा कि विश्वविद्यालय विद्यार्थियों के कौशल को निखारने के लिए काम कर रहा है। कुलसचिव ब्रिगेडियर समरवीर सिंह ने कार्यक्रम पर प्रकाश डालते हुए कहा कि विद्यार्थियों ने तीन दिवसों में बेहतर करने का प्रयास किया है। आगे अपने कौशल को और निखार कर आगे बढ़ने की आवश्यकता है। संयुक्त कुलसचिव प्रो. दिनेश शर्मा, प्रो. राजीव शर्मा, प्रो. रविकांत, प्रो. अशोक पुरोहित ने विजेताओं को बधाई दी। संयोजक प्रो. सिद्धार्थ जैन ने कार्यक्रम रिपोर्ट प्रस्तुत करते हुए बताया कि 875 प्रतिभागियों ने भाग लेकर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया।

अथर्वा उत्सव के चतुर्थ दिवस क्रिकेट का फाइनल मुकाबला आईईटी व डीओपी के मध्य हुआ। जिसमें डीओपी ने विजय का ताजा अपने नाम किया। सांस्कृतिक कार्यक्रम में लाइट वोकल सोलो में सुंदर, श्रृष्टि, कुमकुम, क्लासिकल डांस में कनक, प्राची, अक्षित, सेमी क्लासिकल डांस में चेतना, भव्या, कुनिका, फोग डांस में ज्ञानेंद्र, स्वाति, खुशी, ग्रुम डांस में प्रिया, गुनगुन, ग्रुप सांग में आरती, संजना ने स्थान प्राप्त किया। ऑल ओवर चैंपियन आयुर्वेदा की टीम रही। सभी विजेताओं को प्रमाण पत्र, मेडल व ट्रॉफी देकर सम्मानित किया गया। इस दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम में गजब कर डारो जुलम कर डारो पर ज्ञानेंद्र की प्रस्तुति को खूब सराहा गया। वहीं सुंदर के काली कमली वाला मेरा यार है गाने ने खूब तालियां बटोरी। खेल समन्वयक सरताज खान, नसीम खान, रामगोपाल सिंह व सांस्कृतिक कार्यक्रम समन्वयक डा. पूनम रानी व भावना राज रही। व्यवस्थाओं में प्रशासनिक अधिकारी गोपाल राजपूत, छात्रों में मोहित, नितिन, शशांक का सहयोग रहा।



मंगलायतन विश्वविद्यालय में मनाया राष्ट्रीय विज्ञान दिवस

अलीगढ़। मंगलायतन विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय विज्ञान दिवस मनाया गया। कार्यक्रम को मनाए जाने का उद्देश्य सर रमन द्वारा रमन प्रभाव की खोज का जश्न मनाना है। इसका उद्देश्य लोगों में वैज्ञानिक सोच पैदा करना और हमारे दैनिक जीवन में विज्ञान और प्रौद्योगिकी के महत्व को उजागर करना है। इंस्टीट्यूट ऑफ एप्लाइड साइंसेज ने एक विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया। इस वर्ष के उत्सव का विषय ‘विकसित भारत के लिए स्वदेशी तकनीक’ था, जो राष्ट्र के विकास के लिए घरेलू नवाचारों के महत्व पर जोर देता है। कार्यक्रम की शुरुआत डा. स्वाति अग्रवाल द्वारा राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के बारे में सामान्य परिचय के साथ की। विभागाध्यक्ष प्रो. मनीषा शर्मा ने निबंध प्रतियोगिता के लिए संदर्भ और प्रेरणा प्रदान करते हुए विकसित भारत के लिए स्वदेशी तकनीक पर भाषण दिया। संचालन डा. प्रभात बंसल ने व डा. हिबा इस्लाही ने धन्यवाद ज्ञापित किया। इस दौरान निबंध लेखन प्रतियोगिता हुई। शीर्ष तीन प्रविष्टियों को पुरस्कृत किया गया। सभी प्रतिभागियों को भागीदारी प्रमाणपत्र दिए गए।



सैटरडे सैटरडे, काला चश्मा -2 फेम इंदीप बख्शी के गीतों पर झूमेंगा मंगलायतन

अलीगढ़। मंगलायतन विश्वविद्यालय में शुक्रवार की शाम खास होगी। यह अवसर होगा अथर्वा उत्सव के समापन पर आयोजित स्टार नाइट का। कार्यक्रम में देश की संस्कृति की अद्भुत छटा देखने को मिलेगी। स्टार नाइट को खास बनाने बॉलीवुड के प्रसिद्ध गायक सैटरडे सैटरडे व काला चश्मा-2 फेम इंदीप बख्शी आ रहे हैं। अपनी आवाज के दम पर गायकी का झंडा लहराने वाले इंदीप श्रोताओं का मनोरंजन करेंगे। शाम को होने वाले इस आयोजन में जनपद के गणमान्य भी शामिल होंगे। स्टार नाइट का आयोजन विश्वविद्यालय परिसर में किया जा रहा है। कार्यक्रम को लेकर गुरुवार को तैयारियां पूर्ण कर ली गई थी। कुलसचिव ब्रिगेडियर समरवीर सिंह ने बताया कि कार्यक्रम में पास के माध्यम से ही प्रवेश की अनुमति होगी। विद्यार्थी अपने अभिभावकों के साथ कार्यक्रम में सहभागिता करेंगे।

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)