जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

प्रधानमंत्री जी द्वारा अहमदाबाद में किए गए लोकार्पण का न्यू दाऊद खां स्टेशन पर किया गया सजीव प्रसारण

0

 


*न्यू खुर्जा से न्यू सानेहवाल फ्रेट कॉरिडोर का हुआ लोकार्पण*

मा0 सांसद, एमएलसी, विधायक, जिला पंचायत अध्यक्ष, जिला अध्यक्ष एवं अन्य जनप्रतिनिधिगण भी रहे शामिल


चंचलवर्मा, अलीगढ़ मीडिया डॉट कॉम, अलीगढ : मा0 प्रधानमंत्री मोदी जी द्वारा मंगलवार को अहमदाबाद से 85000 करोड़ की 6000 से अधिक रेल परियोजनाओं, वंदे भारत ट्रेन, रेल सेवाओं में विस्तार एवं अन्य विकास परियोजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास किया गया। अहमदाबाद में आयोजित उद्घाटन एवं शिलान्यास कार्यक्रम का न्यू दाऊद खां जंक्शन पर एलईडी के माध्यम से सजीव प्रसारण देखा और सुना गया। 

मा0 प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने अपने संबोधन में कहा कि विकसित भारत के लिए हो रहे नवनिर्माण का लगातार विस्तार हो रहा है। हर क्षेत्र में नई-नई परियोजनाएं आरंभ की जा रही हैं। वर्ष 2024 के आरंभ के 75 दिनों में 11 लाख करोड़ की परियोजना का लोकार्पण एवं शिलान्यास हो चुका है। विगत 10 से 12 दिनों में 7 लाख करोड़ की परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास हुआ है। आज 85000 करोड़ की 6000 से अधिक विकास परियोजनाएं राष्ट्र को समर्पित की जा रही है। उन्होंने कहा कि वह राष्ट्रहित में विकास की गति को कम नहीं होने दे रहे हैं। भारत एक नौजवान देश है। यहाँ बहुत सारे युवा रहते हैं। आज हो रहा लोकार्पण वर्तमान युग की संपन्नता और शिलान्यास युवाओं के उज्जवल भविष्य की गारंटी लेकर आया है। भारत सरकार की धनराशि से रेलवे के विकास को गति प्रदान की जा रही है। उन्होंने वंदे भारत ट्रेन को हरी झंडी दिखाते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में इस बार आयोजित होने वाले कुंभ मेले का श्रद्धालुओं को इसका अवश्य ही लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि भारतीय रेल को लगातार आधुनिक बनाते हुए देश के कोने-कोने को आपस मे जोड़ा जा रहा है। मानव रहित फाटकों को समाप्त किया जा रहा है, रेलवे स्टेशनों पर जन औषधि केंद्र स्थापित किए जा रहे हैं। मेड इन इंडिया का इकोसिस्टम बन रहा है। भारत में तैयार प्रोडक्ट्स विदेश में जा रहे हैं। रेलवे में हो रहे ये प्रयास और कायाकल्प नए निवेश एवं नए रोजगार की गारंटी दे रहे हैं। यह विकास कार्य सरकार बनाने के लिए नहीं बल्कि देश बनाने का मिशन हैं। उन्होंने कहा कि बीते 10 वर्षों में पूर्व से पश्चिम को जोड़ने वाला फ्रेट कॉरिडोर का कार्य लगभग पूरा हो चुका है। सरकार के प्रयासों से मालगाड़ी की स्पीड दो गुना हो गई है। अब अधिक स्पीड से अधिक सामान का आवागमन हो रहा है। उन्होंने कहा कि आज के उद्घाटन से मिली विकास परियोजनाओं का प्रभाव सीधे तौर पर माल ढुलाई पर पड़ने वाला है। उन्होंने कहा कि भारतीय रेलवे विरासत, विकास और आस्था से जुड़े कार्यों को भी साकार कर रही है। श्री राम भक्तों को अयोध्या तक ले जाया जा रहा है। भारतीय रेल आधुनिकता की रफ्तार पर यूं ही तेजी के साथ आगे बढ़ती रहेगी, यह मोदी की गारंटी है।

मा0 सांसद श्री सतीश कुमार गौतम ने कहा कि केंद्र एवं प्रदेश सरकार मिलकर देश-प्रदेश का समुचित विकास कर रहे हैं। आज रेल एवं अन्य परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया गया है। इसमें 11589 करोड़ रूपये की लागत वाले 401 किलोमीटर लम्बाई में न्यू खुर्जा से न्यू सानेहवाल तक विशेष रेल परियोजना में डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर के तहत पूर्वी समर्पित माल गलियारा का लोकार्पण किया गया है। इसके वजूद में आने से माल गाड़ियों का सुगम परिचालन संभव हो रहा है। श्री गौतम ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी जी ने जिन परियोजनाओं का शिलान्यास किया है, उन सभी का लोकार्पण भी उन्हीं के द्वारा किया जा रहा है। यह उनकी दृढ़ इच्छा एवं संकल्प शक्ति को दर्शाता है। इस दौरान उन्होंने चिरौलिया फ्लाई ओवर, रेलवे स्टेशन पर सुगम आवागमन के लिए स्थापित लिफ्ट, स्वचालित सीढ़ियां, नवीन रेलवे स्टेशन भवन, ट्रांसपोर्ट नगर, राजा महेंद्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय, अचल सरोवर, अटल आवासीय विद्यालय एवं स्मार्ट सिटी के तहत कराए जा रही विकास कार्यों को भी गिनाया। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी जिस प्रकार से महापुरुषों को सम्मान दे रहे हैं, ठीक उसी प्रकार से नवनिर्मित स्टेशन का नाम महाराणा प्रताप के नाम पर रखने के लिए प्रस्ताव भारत सरकार को भेजेंगे।

   मा0 एमएलसी डा0 मानवेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि 401 किलोमीटर लंबाई में फ्रेट कॉरिडोर बन जाने के बाद दाऊद खां स्टेशन अब जंक्शन बन चुका है। विकसित भारत निर्माण के लिए मा0 प्रधानमंत्री जी द्वारा 2019 में जो संकल्प लिए गए थे, वह सभी पूरे किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा की गारंटी को पूरा करने का दूसरा नाम मोदी की गारंटी है। मा0 कोल विधायक श्री अनिल पाराशर ने कहा कि पश्चिम से पूर्वी यूपी को जोड़ने वाला लॉजिस्टिक्स ट्रेक क्षेत्र की तस्वीर और तकदीर बदलने वाला होगा। इससे एक तरफ जहां लॉजिस्टिक ट्रांसपोर्ट को गति प्रदान होगी वहीं रेलवे ट्रैक के किनारे वाले क्षेत्रों के विकास में आमूल चूल परिवर्तन देखने को मिलेगा। उन्होंने दाऊद खां रेलवे स्टेशन का नाम किसी महापुरुष के नाम पर रखे जाने का भी आग्रह किया। 

इससे पूर्व न्यू दाऊद खां जंक्शन पर आयोजित कार्यक्रम का शुभारंभ अतिथियों द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। स्कूली छात्राओं द्वारा सरस्वती वंदना भी प्रस्तुत की गई। समारोह में लखनऊ से राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल एवं मा0 मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी भी वर्चुअली माध्यम से जुड़े। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती विजय सिंह, जिला अध्यक्ष कृष्ण पाल सिंह, पूर्व महानगर अध्यक्ष श्री विवेक सारस्वत, ठा0 हरेंद्र सिंह, भूपेंद्र सिंह, ठा0 शल्यराज सिंह, राधेश्याम सिंह, ग्राम प्रधान सत्येंद्र, अमन गुप्ता, अनिल तोमर, सुरेश कुमार, सोनू ठाकुर, अमित कुमार, आसपास ग्रामों के प्रधान व बीडीसी एवं चेयरमैन मडराक, डीडीएफसीआईएल के संयुक्त महाप्रबंधक नरेश कुमार, परियोजना प्रबंधक मनुज कुमार सारस्वत, वरिष्ठ प्रबंधक आशुतोष गर्ग, सहायक परियोजना प्रबंधक सुधीर गुप्ता, वरिष्ठ कार्यकारी अभियंता पंकज कुमार, वरिष्ठ मंडल अभियंता आलोक केसरवानी, स्टेशन अधीक्षक मडराक घनश्याम मीना और भारतीय रेल परिवार के अन्य सदस्य उपस्थित रहे।

------

                                      

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)