जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

#RMPSU निर्माण कार्यों को गति प्रदान करने के लिए DM ने ली बैठक

0


कार्यदाई संस्था को 15 जून तक सभी कार्य पूरे करने के दिए निर्देश

अलीगढ़ मीडिया न्यूज़, व्यरो अलीगढ : जिलाधिकारी विशाख जी0 की अध्यक्षता में कलैक्ट्रेट सभागार में राजा महेंद्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय के निर्माण कार्यों को अंतिम रूप दिए जाने के संबंध में बैठक आयोजित की गई। इस अवसर पर कुलपति आरएमपीएसयू सीडीओ, रजिस्ट्रार, एडीएम सहित अधिशासी अभियंता एवं एसडीएम कोल उपस्थित रहे।

    डीएम ने पांच बार कार्य पूर्णता तिथि को आगे बढ़ाने के बाद भी कार्य पूर्ण न होने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त व्यक्त की। उन्होंने ए. के. राही अधिशासी अभियंता निर्माण खंड भवन लोक निर्माण विभाग से मूल स्वीकृत लागत 101.41 करोड़ की सापेक्ष होने वाले सभी कार्यों को कब तक पूरा किया जा सकेगा के संबंध में समयसीमा से अवगत कराने के निर्देश दिए। अधिशासी अभियंता ए. के. राही ने डीएम एवं कुलपति को आश्वस्त किया कि आरएमपीएसयू के मूल स्वीकृत लागत के सापेक्ष सभी कार्य करीब 15 जून तक पूरे हो जाएंगे।


     डीएम विशाख जी0 ने एसडीएम कोल को भूमि संबंधी छह मामलों का निस्तारण 30 मई तक कराए जाने के निर्देश देते हुए विश्वविद्यालय की 8.44 एकड़ भूमि जो विभिन्न टुकड़ों में अलग-अलग है, की विनिमय प्रक्रिया पूर्ण करने के लिए एडीएम प्रशासन को एक हफ्ते में सर्वे कार्य पूर्ण कराकर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। विश्वविद्यालय परिसर एक व दो को आपस में जोड़ने वाली फोरलेन सड़क निर्माण संबंधी कार्य हेतु शीघ्र आगणन तैयार कर शासन को भेजने के निर्देश एक्सईएन पीडब्लूडी ए0के0 राही को दिए गए। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय के तीनों परिसरों के भीतरी एवं वाह्य भाग में वृक्षारोपण कराया जाना है, जिसके लिए सीडीओ को निर्देशित किया गया कि वह वन एवं उद्यान विभाग के अधिकारियों से समन्वय स्थापित करते हुए वृक्षारोपण के लिए तैयारियां सुनिश्चित कराएं।



    बैठक में शीला फोम के प्रतिनिधि राजेश ने बताया कि ऑडिटोरियम एवं लाइब्रेरी का कार्य अपने अंतिम चरण में है। यहां की अनिवार्य सेवाओं संबंधी कार्य वर्तमान में प्रगति पर हैं। उन्होंने बताया कि लाइब्रेरी के समस्त कार्य 15 जून तक एवं ऑडिटोरियम का कार्य 31 जुलाई तक पूर्ण हो जाएगा। 

---------

                                                        

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)