जनता से वित्तपोषित, UPI, PhonePe, और PayTM: 9219129243

Breaking Aligarh| बन्नादेवी इलाके में धुआँधार हो रहीं हैं 'लूट' पे 'लूट', क्या एसएसपी ने थानाध्यक्ष को दे रखी है छूट?

0



अलीगढ मीडिया न्यूज़ ब्यूरो, अलीगढ| अलीगढ जनपद का बन्नादेवी थाना इलाका अपराधियों के लोए सेफ पॉइंट बनता जा रहा है| पुलिसिया सुस्ती के चलाये अपराधी बेलगाम होते जा रहे है| थाना इलाके में कहीं न कहीं कोई लूट और चोरी की बरदाते होना यहाँ रोज का काम है| हालाँकि यह मजे की बात है कि थाना क्षेत्र का अधिकाशं इलाका सीसीटीवी कैमरों से लैस है| बबजूत इसके इस इलाके में लुटेरे और बदमाश खुलेआम दिनदहाड़े लूटपाट की घटनाओ को अंजाम दे रहे है|  हाल ही में दो दिन पहले मीडियाकर्मी से दिनदहाड़े मोबाइल फ़ोन की घटना पर पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की और शिकायत को रद्दी की टोकरी में डाल दिया| यह मामला शांत भी नहीं हुआ कि थाने के सामने लगाने वाले मंगलबाजार से सरेबाजार महिला से मारपीट करते होते कान से कुण्डल और पर्स लूट लिया| कान से कुण्डल छीनने से महिला का कान फट गया, खून से लथपथ महिला परिजनों सहित कोतवाली बन्नादेवी पहुंची तो पुलिस ने उसे चिकित्सीय परीक्षण के लिए जिला अस्पताल भेज दिया| लेकिन लूट की रिपोर्ट आज तक नहीं दर्ज के गयी है| बुधवार को पीड़िता एसएसपी के पास शिकायत लेकर पहुंची, मामले में एसएसपी ने कार्रवाई के आदेश दिए है||

पुलिस को दी शिकायती पत्र में कहा गया है कि हम तीन महिला कामदेश ५४/० ओमप्रकाश व सुमन ५०% रोशन लाल अपनी बेटी को लेकर अपने घर के बीमा नगर मेलमपुर रोड से मंगल बजार जा रही थी जब मंगल बजार पहुंचे तो सम्म दुकान से कुछ सामान खरीदते समय बाद विवाद होग गया इसी दौरान प्रमोद पुत्र सोनदेव और सुमन w/ प्रमोद खैर अड्डा थाना देहली गेट अपने दो साथियो के साथ आया और अचानक उसने हम तीनो पर हमला किया, जिसमे कमलेश देवी के कान पर झपट्टा, और कुण्डल लूट लिया घटना में , जिससे मेरा कान गम्भीर रूप से फट गया | मेरे साथ मे सुमन देवी 4/0 रोशन लाल महिला का एक पसे जिसके छीन कर भाग गये पर्स में 4200 रुपये थे और हमारे साथ गम्भीर रूप से मारपीट करी और सारे बहुत से लोग आये जिन्हें देख कर जान से मारने की धमकी देकर भाग गये| 

वीडियो बनाने पर धमकाते रहे हल्का इंचार्ज 
घटना में घायल हुयी महिला जब आप बीती बताने बन्नादेवी ठाणे में गयी तब उनके परिजन पूरी घटाक्रम की अपने मोबाइल से वीडियो बना रहे थे तो हल्का इंचाज परिजनों पर हो बोखला गए| उन्होंने वीडियो बनाने नहीं दिया साथ ही उल्टा पीड़िता और उसके परिजनों को खरी-खोटी सुना डाली|
प्रकरण में बन्नादेवी कोतवाली प्रभारी से बात करने की कोशिश के गयी तो उनका फोन रिसीव नहीं हुआ|


 

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)